🔍 Google'$ 🔍

Popular posts

जयपुर के जलमहल को कौनसी तकनीक से बनाया गया है जो इतने सालों से पानी में आज तक खड़ा है ||

 जयपुर के जलमहल को कौनसी तकनीक से बनाया गया है जो इतने सालों से पानी में आज तक खड़ा है : 

राजस्थान की विरासत दुनिया में अपनी एक अलग ही पहचान रखती है। अगर आप राजस्थान घूमने की ट्रिप बनाते हैं तो उसमें सबसे पहले नंबर पर Jal Mahal का नाम आता है। वैसे तो राजस्थान में काफी महल हैं जो घूमने लायक हैं, जिसके लिए आपको यहां घूमने में कम से कम एक महीना तो लग ही जाएगा। महल के अलावा यहां पर घूमने-फिरने की इतनी ऐतिहासिक जगहें भी हैं। राजस्थान के इतिहास को समेटे हुए ऐसी एक जगह है Jal Mahal। जयपुर के सबसे बेशकीमती टूरिस्ट स्पोर्ट्स (Precious Tourist Sports) में से एक है।

             
300 साल पहले बना था जयपुर का जलमहल

राजस्थान की ऐतिहासिक जगह Jal Mahal को 300 साल पहले आमेर के महाराज ने 1799 में बनवाया था। Jal Mahal के निर्माण के पीछे एक विशेष कारण था जिससे बहुत कम लोग जानते हैं, जब 15वीं शताब्दी में इस जगह में अकाल पड़ने पर आमेर के शासक ने बांध बनाने का निश्चय किया ताकि आमेर और अमागढ़ के पहाड़ों से निकलने वाली पानी को इकठ्ठा किया जा सके और पानी के निकास के लिए पानी के भीतर 3 आंतरिक दरवाजे बनाये और मानसागर झील बनाकर तैयार की गई।

जलमहल की पांच मंजिला इमारत

इस झील की सुंदरता उस समय के राजाओं के आकर्षण का केंद्र थी और राजा अक्सर नाव में बैठ इसकी सैर किया करते थे। राजा सवाई जयसिंह ने झील के बीचों-बीच महल बनाने का निश्चय किया था ताकि वह अश्वमेघ यज्ञ के बाद अपनी रानी और पंडितों के साथ झील के मध्य में शाही स्नान कर सके। झील के बीच अपनी दास्तां सुनाता Jal Mahal पांच मंजिला इमारत है, जिसकी 4 मंजिल पानी के भीतर बनी हैं और एक पानी के ऊपर नजर आती है।

चार मंजिल पानी में और 1 मंजिल ऊपर दिखती है

इस पंच मंजिला महल में जिसकी चार मंजिल हमेशा ही पानी में डूबी रहती है और सिर्फ एक मंजिल नजर आती हैं। इस महल के किसी भी कोने से पानी का रिसाव नहीं होता है क्योंकि इसे बनाने में मजबूत चूना पत्थरों का इस्तेमाल किया गया है और काफी मोटी मोटी दीवारें बनाई गई हैं। जल महल का निर्माण आवासीय तौर पर ना होकर एक Picnic spot के तौर पर किया गया था इसी वजह से आपको आश्चर्य होगा कि जल महल के अंदर कोई भी कमरा नहीं है।

बेहद सुंदर दिखाता है जयपुर का जलमहल  

इस महल के अंदर केवल गलियारे और छत पर बगीचा ही है। इससे पता चलता है कि हमारी प्राचीन भवन निर्माण तकनीक कितनी समृद्ध थी। हालांकि कुछ सुरक्षा कारणों की वजह से पर्यटकों इसके अंदर जाने की अनुमति नहीं है। वही समय-समय पर इसका रखरखाव राजस्थान सरकार द्वारा किया जाता रहा है। बता दें कि जयपुर घूमने के लिए नवम्बर से फरवरी का समय सबसे बेस्ट है और जलमहल के अलावा आप जयपुर की कई ऐतिहासिक इमारतें देख सकते हैं। हवामहल, आमेर का किला, नाहरगढ़ का किला।

0 Komentar untuk "जयपुर के जलमहल को कौनसी तकनीक से बनाया गया है जो इतने सालों से पानी में आज तक खड़ा है ||"

Back To Top